अपनी राशि के अनुसार जानिए कौन सा कारोबार है आपके लिए सर्वोत्तम

Best professions or jobs according to zodiac signs

वर्तमान समय में हर व्यक्ति बचपन से लेकर वयस्क होने तक गहन अध्ययन व मेहनत केवल इसलिए ही करता है ताकि वह शिक्षित होकर अपने अनुसार क्षेत्र में नौकरी व कार्यों को कर सकें। बड़ा अफसर बनने के लिए जातक बचपन से ही खूब लगन से एकाग्रचित्त होकर पढ़ाई करते हैं, वहीं जिन जातकों की रुचि खेल के क्षेत्र में होती है, वह बचपन से ही खेल में भाग लेकर धीरे-धीरे स्वयं को कुशल बनाने की कोशिश में लगे रहते हैं। इसी प्रकार से सभी जातक अपनी रूचि के अनुसार वह अपनी योग्यताओं के अनुरूप कार्यों का चयन करना पसंद करते हैं। किंतु कई बार हम भटकाव में या फिर समझदारी के अभाव में आकर उचित मार्ग का चयन नहीं कर पाते हैं। हमें समझ नहीं आता है कि कौन सा कार्य हमारे लिए उपयुक्त है. हमें कौन सी नौकरी करनी चाहिए, किस क्षेत्र में कार्य करना हमारे लिए लाभदायक होगा, आदि। चलिए आज आपकी सारी दुविधाओं को दूर करने हेतु हम ज्योतिष शास्त्र में आपके लिए उचित कारोबार से संबंधित प्रश्नों का हल ढूंढते हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति के जीवन में उनके ग्रह गोचरों की स्थिति परिस्थिति व गतिविधियां बहुत ही महत्व रखती हैं। व्यक्ति की कुंडली में ग्रह गोचरों की स्थिति जातकों के जीवन पर प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से प्रभाव डालते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी जातक की कुंडली व राशि के अनुसार उसके जीवन के संबंध में संपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सकती है, साथ ही जीवन संबंधित आ रही समस्याओं का निदान भी मिल जाता है। आपको किस तरह के कारोबार करने चाहिए, इसके संबंध में भी संपूर्ण जानकारी आपकी राशि व ग्रह के अनुरूप समझी व परखी जा सकती है। अतः आज हम जानेंगे आपकी राशि के अनुरूप कौन सा कारोबार आपके लिए उपयुक्त रहेगा ताकि आप अपनी रूचि के अनुरूप कार्यों के चयन करने के साथ-साथ अपने ग्रह दिशा का भी ख्याल रखें जिससे आप जिस भी कार्य में हाथ लगाएं, वह दिन-दूना और रात चौगुना फलित हो।

फिर देर किस बात की है, चलिए जानते हैं आपकी राशि के अनुसार आपके लिए कौन सा कारोबार सर्वोत्तम रहेगा।

कार्यक्षेत्र जो आपकी राशि के अनुसार आपके लिए हैं सर्वोत्तम

मेष राशि

मेष राशि के जातकों का ज्योतिषीय ग्रह मंगल होता है, अर्थात मेष राशि के जातकों पर मंगल का असर बना रहता है। इसलिए इस राशि के जातकों को सेना, साहसिक कार्य, इंजीनियरिंग, खेल, भूमि आदि से संबंधित कार्यों में अपना हाथ आजमाना चाहिए। इन जातकों के लिए इस प्रकार के कार्य अधिक फलदाई होते हैं। अतएव मेष राशि के जातकों को मंगल से संबंधित कार्य में अपना करियर बनाने का विचार करना चाहिए।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों का स्वामी ग्रह शुक्र होता है। शुक्र ग्रह को कला, नृत्य, सौंदर्य, गायन, अभिनय, लेखन, संगीत, वादन, अभिव्यक्ति आदि जैसे कार्यों का कारक माना जाता है, अतः वृषभ राशि के जातकों के लिए शुक्र से संबंधित कार्य शुभकारी रहेगा। इससे कार्य में आपको सफलता मिलने के आसार बने रहते हैं। शुक्र ग्रह से संबंधित कार्यों को ही अपने कैरियर के रूप में बनाने का प्रयत्न करें।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों के ऊपर बुध ग्रह की कृपा दृष्टि बनी रहती है। इस जातकों का स्वामी ग्रह बुध है। ऐसे जातकों के लिए कार्य क्षेत्र के मामले में बैंकिंग, मीडिया, तार्किक विषय, गणित, लेखन, संवाद, कम्युनिकेशन आदि से संबंधित कार्यों में कामयाबी प्राप्त होती है। मिथुन राशि के जातकों को इस तरह के कार्यों में ही हाथ लगाना चाहिए, आपके स्वभाव अनुसार ये अनुकूल भी रहते हैं।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों का स्वामी ग्रह चंद्रमा है, अर्थात यह चंद्रमा की राशि है और चंद्रमा शीतलता व जल का प्रतीक माना जाता है। ऐसे में कर्क राशि के जातकों को जल अथवा तरल पदार्थों से संबंधित कार्य जैसे कि कोल्ड ड्रिंक्स, नाव, समुंद्री जहाज, मछली आदि से जुड़े कारोबार में अपने हाथ आजमाने चाहिए, इनके लिए इस तरह के कारोबार अधिक शुभकारी हैं, इसमें कामयाबी मिलने के अधिक आसार रहते हैं।

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों का स्वामी ग्रह सूर्य होता है। सूर्य से संबंधित जातकों को प्रायः लीडर जैसे क्रियाकलाप मिलते हैं। अर्थात सिंह राशि के जातकों के लिए प्रशासनिक अधिकारी, सरकारी सेवा क्षेत्र में उच्च अधिकारी व राजनीतिक क्षेत्र जैसे कार्यक्षेत्र अधिक प्रभावकारी होते हैं। इस राशि के जातकों को सरकारी नौकरी, रुई, औषधि से जुड़े कार्य, स्टॉक एक्सचेंज, फल, कपड़ा, स्टेशनरी आदि से जुड़े कार्यों में भी बढ़िया कामयाबी प्राप्त होती हैं।

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों का मूल ग्रह बुध है। इस राशि के जातकों का शैक्षणिक आदि विषयों में अधिक मन लगा होता है। ऐसे जातकों को अपने कार्यक्षेत्र हेतु गणित, बैंकिंग, तार्किक विषय, लेखन, संवाद, मीडिया, कम्युनिकेशन आदि से जुड़े क्षेत्रों को अपनाना चाहिए, आपको इन सभी क्षेत्रों में शीघ्र ही कामयाबी प्राप्त होगी।

तुला राशि

तुला राशि के जातकों का स्वामी ग्रह शुक्र होता है, अतः इनका भौतिकवाद में अधिक रुझान होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र ग्रह से प्रभावित जातकों को कला, सौंदर्य, नृत्य संगीत, अभिनय, लेखन, गायन, वादन आदि से जुड़े कार्यों में अपना हाथ आजमाना चाहिए। इस राशि के जातकों को शुक्र ग्रह से संबंधित प्रोफेशन को अपनाने में सफलता मिलेगी।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों का स्वामी ग्रह मंगल है, इसलिए वृश्चिक राशि के जातकों को मंगल से जुड़े कार्यों को अपने प्रोफेशन हेतु चुनना चाहिए। मंगल ग्रह से संबंधित कार्य जैसे साहसिक कार्य, भूमि, खेल, इंजीनियरिंग, सेना आदि, इन राशि वालों के लिए अत्यंत ही शुभकारी हैं। इन जातकों को मंगल ग्रह से संबंधित कार्य में अपना करियर बनाना चाहिए, यह इनके लिए शुभकारी परिणाम दर्शाने वाला है।

धनु राशि

धनु राशि के जातकों का स्वामी ग्रह बृहस्पति होता है। बृहस्पति को सभी ग्रहों में गुरु की उपाधि दी जाती है। बृहस्पति ग्रह से संबंधित जो भी जातक होते हैं, वे प्रायः ज्ञानी प्रवृत्ति के होते हैं। इस राशि के जातकों का ज्ञान और शिक्षा से जुड़े कार्यों में काफी मन लगता है। ऐसे जातकों को लेखन, संपादन, अध्यापन, लिपिक, अनाज, दलाली, शेयर, कमीशन, एजेंट, आयात-निर्यात आदि से संबंधित कार्यों को करना चाहिए। यह सभी गुरु अर्थात बृहस्पति से संबंधित कार्य है, इन कार्यों में इस राशि के जातकों को बढ़िया सफलता की प्राप्ति होती है।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों पर शनि का प्रभाव रहता है। इन जातकों को अपने शनि को हमेशा प्रसन्न रखने का प्रयत्न करना चाहिए क्योंकि शनि एक बार अगर कुपित हो गए, तो इनके जीवन में अनेकानेक प्रकार की समस्याएं बाधाएं आने लगेगी। ऐसे जातकों को कारोबार के मामले में शनि से जुड़े हुए कार्य जैसे कि प्रबंधन, बीमा विभाग, बिजली, कमीशन, मशीनरी, ठेकेदारी, सट्टा, रेडीमेड, कपड़ा, उत्पाद, बागवानी से संबंधित कार्यों को करना चाहिए। यह सभी कार्य शनि ग्रह से प्रभावित होते हैं, अतः इन कार्यों में सफलता मिलने के आसार बने रहते हैं।

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जातक भी शनि ग्रह से प्रभावित होते हैं, अर्थात इस राशि के जातकों का स्वामी ग्रह शनि होता है। यह जातक आराम व इत्मिनान से कार्य करना अधिक पसंद करते हैं। इस राशि के जातकों के लिए प्राकृतिक, उपचार, चिकित्सा कार्य, ग्रह अनुसार शुभकारी रहेंगे। उपरोक्त कार्य इनकी राशि के अनुरूप है, अतः कुंभ राशि के जातकों को इसी तरह के कार्य का चयन हेतु करना चाहिए।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों के स्वामी ग्रह ग्रहों के देव गुरु बृहस्पति है। इस जातकों के अंदर बौद्धिकता का प्रसार अत्यधिक रहता है। ऐसे जातक ज्ञान अर्जित करने व प्रदान करने में अधिक रूचि रखते हैं। अतः इन्हें अपने राशि के अनुरूप  स्वामी ग्रह को मध्य नजर रखते हुए अध्यापन, लेखन, संपादन, एनजीओ, स्वतंत्रता सेनानी, कानून, दार्शनिक, लेखन कार्य, शिक्षा विभाग, क्लर्क, उपदेशक, धर्म सुधारक, वकालत, प्रकाशक आदि जैसे प्रोफेशन को अपने करियर हेतु चुनना चाहिए। इन सभी क्षेत्रों में आप को अधिक से अधिक कामयाबी की प्राप्ति होगी।



राजीव दीक्षित संस्थान द्वारा आयुर्वेदिक एवं स्वदेशी उत्पाद खरीदें, और संस्था को आगे बढ़ाने में सहयोग करें
अभी आर्डर करें