आज का पंचांग 8 जून 2020

Aaj Ka Panchang 8 June 2020

आज दिनांक 08 जून 2020 ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि और दिन सोमवार का है। विक्रम संवत् 2077 है। सूर्य उत्तरायण की स्थिति में उत्तर गोलार्द्ध में मौजूद है। ग्रीष्म ऋतु है।

आज तृतीया तिथि शाम 07 बजकर 56 मिनट तक बनी रहेगी, इसके पश्चात चतुर्थी  तिथि का आरंभ हो जायेगा। नक्षत्रों में पूर्वाषाढ़ नक्षत्र है जो दोपहर 01  बजकर 45 मिनट तक बना रहेगा, उसके बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र की शुरुआत होगी। इसके अलावा आज शुक्ल योग दोपहर 12 बजकर 52 मिनट तक बना है, फिर ब्रह्मा योग का आरम्भ होगा। आज सुबह 08 बजकर 20 मिनट तक वणिज करण बना रहेगा, जिसके बाद विष्टि करण शाम 07 बजकर 56 मिनट बना रहेगा। इसके बाद बव  करण आरंभ होगा। आज सूर्य मृगशिरा नक्षत्र में है जो वृषभ राशि मे संचार करेगा। वहीं आज चंद्रमा धनु राशि मे शाम 07 बजकर 44 मिनट तक, इसके बाद मकर राशि में संचार करेगा।

सूर्योदय: सुबह 05 बजकर 25 मिनट पर।
सूर्यास्त: शाम 07 बजकर 17 मिनट पर।

चंद्रोदय: रात्रि 09 बजकर 58 मिनट पर।
चन्द्रास्त: 9 जून 2020 सुबह 07 बजकर 32 मिनट पर।

आज के शुभ मुहूर्त

  • अमृतकाल सुबह 09 बजकर 03 मिनट से लेकर सुबह 10  बजकर 36 मिनट तक है।
  • अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 53 मिनट से दोपहर 12 बजकर 47 मिनट तक है।
  • विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 41 मिनट से दोपहर 03 बजकर 34 मिनट तक रहेगा।
  • गोधूलि मुहूर्त शाम 07 बजकर 05 मिनट शाम 07 बजकर 27 मिनट तक है।
  • निशिता मुहूर्त मध्यरात्रि 12 बजे से 12 बजकर 39 मिनट (09 जून 2020 00:39am) तक है।  
  • ब्रह्म मुहूर्त 09 जून 2020 की प्रातः 04 बजकर 03 मिनट से लेकर प्रातः 04 बजकर 41 मिनट तक बना रहेगा।

आज के अशुभ मुहूर्त

  • राहुकाल सुबह 07 बजकर 06 मिनट से लेकर 08 बजकर 53 मिनट तक बना रहेगा।
  • यमगंड सुबह 10 बजकर 35 मिनट से दोपहर 12 बजकर 22 मिनट तक रहेगा।
  • गुलिक काल दोपहर 02 बजकर 04 से 03 बजकर 50 मिनट तक रहेगा।  
  • दुर्मुहूर्त के अशुभ काल का प्रभाव दिन में दो बार रहेगा। पहली बार दोपहर 12 बजकर 47 मिनट से लेकर दोपहर 01 बजकर 45 मिनट तक रहेगा। और पुनः दोपहर 03 बजकर 33 मिनट से 04 बजकर 31 मिनट तक रहेगा ।
  • वर्ज्य काल आज रात्रि 09 बजकर 49 मिनट से रात्रि 11 बजकर 29 मिनट तक बना रहेगा।।

आज के मंत्र

'ओम नमः शिवाय' मंत्र का 108 बार जप करें।

'ऊँ जयन्ती मङ्गलाकाली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते'।।

मंत्र का पाठ करते हुए शक्ति की अधिष्ठात्री देवी दुर्गा का पूजन करें।

आज के उपाय

  • आदिनाथ भगवान शंकर का गाय के दूध से अभिषेक करें।
  • आज गुड़ खाकर कार्यों की शुरुआत करें।
  • संध्याकाल मे घर में तुलसी के समीप घी का दीपक जलायें।


राजीव दीक्षित संस्थान द्वारा आयुर्वेदिक एवं स्वदेशी उत्पाद खरीदें, और संस्था को आगे बढ़ाने में सहयोग करें
अभी आर्डर करें