क्या करें क्या ना करें मंगलवार के दिन जिससे बजरंग बलि रहे प्रसन्न

kya karen kya naa kare mangalvar ke din

पवन पुत्र एवं केसरी नंदन, श्री राम दूत महाबली हनुमान जी का नाम प्रतिदिन याद करने से एक मनुष्य को सभी दुःख, भय एवं दोषों से मुक्ति मिलती है। मान्यता है कि हनुमान जी का जन्म मंगलवार को हुआ था, इसीलिए मंगलवार को महाबली की आराधना करने वाले भक्त के सभी दुःख एवं कष्ट दूर हो जाते है।

कहा जाता है कि हनुमान जी को श्री राम जी ने अमरता का वरदान दिया ताकि वह इस धरती पर हर युग में धर्म की रक्षा कर सकें। चाहे त्रेतायुग में श्री राम की लंका विजय में सहायता करना हो या द्वापरयुग के महाभारत संग्राम में अर्जुन के रथ की विजयपताका में विद्यमान हो सम्पूर्ण युद्ध का सञ्चालन करना, मारुतिनंदन परम पराक्रम तथा भक्ति भाव के धनि है।

हनुमानजी को पराक्रम, बल, सेवा और भक्ति का आदर्श माना जाता है। हनुमानजी इकलौते ऐसे देवता हैं, जो हर युग में किसी न किसी रूप में जगत में संकट मोचन बन कर सदैव हमारी सहायता करेंगे। शास्त्रों के अनुसार मंगलवार को शिवांश मारुतिनंदन जी की आराधना करने से उनकी  विशेष कृपा अपने भगतों पर बानी रहती है। आइये हम जानते है की मंगलवार के दिन हमे क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

ये भी पढ़ें: मंगल के दोष को दूर करेंगे ये उपाय

मंगलवार को क्या करें?

  1. प्रत्येक दिन की शुरुआत हमे हनुमान चालीसा के पाठ के साथ करना चाहिए, इससे हमे संकटों से मुक्ति मिलती है तथा हमारे मन मस्तिक्ष्य में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है। परन्तु हो सके तो मंगलवार को १ से अधिक बार हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।
  2. हनुमान जी को प्रत्येक मंगलवार बेसन या बूंदी के लड्डू का भोग अवश्य लगाएं।
  3. सांयकाल रामचरित मानस के सुन्दरकाण्ड का पाठ करें। इससे आप पर तथा आपके परिवारजनों पर सदैव महाबली हनुमान जी की कृपा रहेगी।
  4. प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी पर सिंदूर तथा चमेली के तेल से बने चोले को अर्पण करें, इससे आपको समस्त दुखों से मुक्ति मिलती है।
  5. हनुमान जी के मंदिर में जा कर रामरक्षास्त्रोत का पाठ करने से सारे बिगड़े काम संवर जाते हैं, तथा अटके कामों की बाधा दूर होती है।
  6. कोई भी नया काम करने से पूर्व हनुमान जी के द्वादश नामों का स्मरण करें जो इस प्रकार हैः

’हनुमान, अंजनीसुत, वायुपुत्र,
महाबल, रामेष्ट, फाल्गुनसखा,
पिंगाक्ष, अमितविक्रम, उदधिक्रमण,
सीताशोकविनाशन, लक्ष्मणप्राणदाता, दशग्रीवदर्पहा।।’

मंगलवार को क्या ना करें?

  1. हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी है, अतः मंगलवार के दिन शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए। इस दिन ब्रह्मचर्य का पालन करें।
  2. इस दिन मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए तथा सात्विक भोजन करें।
  3. दूसरों के प्रति बुरे विचार ना लायें।
  4. गरीब तथा असहाय लोगों की मदद करें।