धारण करें राशि के अनुसार रत्न, खुलेगें बंद किस्मत के ताले

Lucky Gemstone for Your Zodiac Sign

मनुष्य जीवन में ग्रह गोचर आदि के महत्व से हम सभी परिचित हैं। ज्योतिष शास्त्र के द्वारा हम अपने ग्रह गोचरों की स्थिति, कुंडली में होने वाले परिवर्तन, लग्न, भाव आदि सभी के संबंध में जानकारी रखने का प्रयत्न करते हैं एवं उनके सकारात्मक प्रभाव हेतु अनेकानेक उपाय भी करते रहते हैं।

चूँकि माना जाता है कि ग्रह गोचर की स्थिति हमारे जीवन की परिस्थितियों का निर्धारण करते हैं, हमारे कुंडली में होने वाले परिवर्तन हमारे जीवन में अमूलभूत परिवर्तन लाते हैं। यही कारण है कि हम अपनी कुंडली के शुभ प्रभाव हेतु प्रायः ज्योतिषीय परामर्श लेते हैं अथवा हस्त रेखा के विज्ञेताओं से हाथ दिखवाने का कार्य, पूजा-पाठ, धर्म-कर्म आदि करते रहते हैं। इन सभी के पीछे का एक ही अहम उद्देश्य होता है कि हमारे जीवन में सकारात्मकता, सुख, शांति एवं समृद्धि बनी रहें। इसलिए ही हम अनेकों उपाय भी करते है।

भिन्न-भिन्न प्रकार के इन्हीं उपायों में से रत्न धारण करना भी एक अचूक, कल्याणकारी एवं सुगम उपाय माना जाता है। यह अत्यंत ही प्रभावी एवं लाभदायक उपाय होता है, किंतु कई बार हम जानकारी के अभाव में अनुपयुक्त रत्न का धारण कर लेते हैं जो हमारे लिए कष्टदायक साबित होता है अतएव आइए आज हम आपको आपकी राशि के अनुसार रत्नों के धारण करने के तथ्य के बारे में बताएंगे, ताकि आप से भूलकर भी कोई भूल ना हो, हालांकि किसी भी रत्न के धारण हेतु ज्योतिषीय परामर्श अनिवार्य माना जाता है।

राशि अनुसार शुभ / अशुभ रत्न

मेष राशि हेतु रत्न

मेष राशि के जातक क्रोधी प्रवृत्ति के व्यक्ति होते हैं। उनके स्वभाव में गुस्सैलपन होता है। यह छोटी-छोटी बातों पर उत्तेजित हो जाते हैं। इनका जिद्दी स्वभाव इनके कई कार्य भी बिगाड़ देता है। ऐसे जातकों को मूंगा अथवा गार्नेट रत्न धारण करना चाहिए। इन रत्न के धारण करने से इन जातकों को खूब फायदा मिलता है। इससे इनका दिमाग शांत रहता है एवं सभी कार्य कुशलता पूर्वक होते चले जाते हैं। मेष राशि के जातकों को भूलकर भी हीरा नहीं पहनना चाहिए।

वृषभ राशि हेतु रत्न

वृषभ राशि के जातक अत्यंत ही भावुक प्रवृत्ति के होते हैं। कई बार इनकी भावुकता इनके लिए मुसीबत बन जाती हैं। ये आसानी से किसी पर भी भरोसा कर लेते हैं जो कई बार इनके लिए संकट उत्पन्न कर देता है। ऐसे जातकों को हीरा धारण करना चाहिए। हीरा इन पर आ रही सभी मुसीबतों से इन्हें बचाएगा। यह बुरी संगत से इन्हें सदैव दूर रखेगा। हालांकि आप हीरा की जगह ओपल भी धारण कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे आप माणिक्य भूल कर भी धारण ना करें, यह आपके लिए दुष्परिणाम लाएगा। ज्योतिष परामर्श से आप मूंगा धारण कर सकते हैं।

मिथुन राशि हेतु रत्न

मिथुन राशि के जातक आकर्षक विचार की रचनात्मक सोच वाले कलाप्रेमी होते हैं। यह कर्मठ होते हैं। इनके कार्य कौशल इन्हें मान सम्मान दिलाते हैं। इस जातक के जीवन में सफलता प्राप्त करने में कई प्रकार की कठिनाई आती है एवं इन्हें अपने लक्ष्य की प्राप्ति में काफी समय लगता है। इन जातकों को पन्ना धारण करना चाहिए। पन्ना धारण करने से इनके जीवन में सफलता प्राप्त करने में शीघ्रता होती है एवं आ रही चुनौतियों से आप सुगमता पूर्वक तीव्र गति से सामना करते हुए सफलता के शिखर तक पहुंच जाएंगे। ऐसे जातकों को नीलम रत्न से परहेज करना चाहिए। नीलम रत्न आपके लिए शुभ नहीं है।

कर्क राशि हेतु रत्न

कर्क राशि के जातक जिद्दी स्वभाव की होते हैं। इनकी जिद कई बार इनका नुकसान करवा देती है। हालांकि यह जातक बुद्धिमान एवं ज्ञानवान होते हैं। कर्क राशि के जातकों को मोती पहनने से सभी प्रकार के लाभ की प्राप्ति होती है। मोती धारण करने पर उनके वैचारिक नकारात्मकता पर नियंत्रण स्थापित होता है एवं मानसिक शांति की प्राप्ति होती है। आपको मूंगा धारण करने से बचना चाहिए, यह आपके लिए ठीक नहीं है।

सिंह राशि हेतु रत्न

सिंह राशि के जातक उदार प्रवृत्ति के होते हैं। हालांकि इन्हें अपने जीवन में छोटी-छोटी सफलताओं के लिए भी अधिक संघर्ष करना पड़ता है, तभी सफलता इन्हें किस्मत से मिल पाती है। ऐसे जातकों को माणिक्य, रेड ओपल या गारनेट धारण करना चाहिए। यह सभी रत्न इन्हें सफलता प्राप्त करने में मददगार साबित होंगे। वहीं आपके लिए हीरा धारण करना नुकसानदेह साबित हो सकता है।

कन्या राशि हेतु रत्न

कन्या राशि के जातक भावुक प्रवृत्ति के होते हैं। कई बार इनकी भावुकता के लिए मुसीबत बन जाती है। ये दूसरों के प्रति अति शीघ्र आकर्षित हो जाते हैं। इनका चंचल स्वभाव कई बार इनके लिए संकट खड़ा कर देता है। हालांकि यह अपने जीवन में आ रही सभी प्रकार की समस्याओं से बेहतरीन तरीके से निपटना जानते हैं, किंतु इनकी भावुकता एवं चंचल प्रकृति के माध्यम से आ रही समस्याओं से बचाव हेतु इन्हें पन्ना धारण करना चाहिए। माणिक्य रत्न पहनना आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

तुला राशि हेतु रत्न

तुला राशि के जातक बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। यह कला से अत्यंत प्रेम करते हैं। इनमें अनेकों प्रकार की खूबियां समाहित होती है, किंतु इन जातकों में एक कमी होती है, ये सदैव दूसरों पर अपना वर्चस्व स्थापित करने की चेष्टा में लगे रहते हैं। इनके अंदर स्वार्थ भाव अधिक रहता है। अतएव इन्हें अपनी नकारात्मकता को नियंत्रित करने हेतु ओपल, ब्लू डायमंड और टोपाज धारण करना चाहिए। मूंगा इन जातकों के लिए घातक साबित होता है, अतः मूंगा धारण न करें।

वृश्चिक राशि हेतु रत्न

वृश्चिक राशि के जातक अत्यंत ही धैर्य एवं शांति के सूचक माने जाते हैं। यह जातक मेहनती स्वभाव के शांत एवं संस्कारों पर चलने वाले होते हैं। यह सफलता प्राप्ति हेतु जी तोड़ मेहनत करते हैं एवं खून पसीना बहा कर अपने लक्ष्य की प्राप्ति करते हैं। ऐसे जातकों को मूंगा धारण करना चाहिए ताकि यह सुगमता पूर्वक अपने जीवन के लक्ष्य की प्राप्ति कर पाए। वृश्चिक राशि के जातकों को हीरा धारण करने से बचना चाहिए, यह आपके लिए नकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करता है।

धनु राशि हेतु रत्न

धनु राशि के जातकों का शारीरिक ढाँचा मजबूत एवं शक्तिशाली प्रकृति का होता है। ऐसे जातक अपने कार्य को शीघ्रतापूर्वक पूर्ण करने में यकीन रखते हैं एवं अपने कार्यों को फटाफट कर हट जाते हैं। इन जातकों को पुखराज धारण करने से लाभ प्राप्त होगा। पुखराज धारण करना इनके भाग्य वृद्धि का कार्य करेगा। आपके लिए पन्ना नुकसानदेह है, अतः पन्ना बिना ज्योतिषीय परामर्श के धारणा न करें।

मकर राशि हेतु रत्न

मकर राशि के जातक सहयोगी प्रकृति के होते हैं। यह दूसरों की सहायता हेतु सदैव तत्पर रहते हैं। इन्हें अनेकानेक प्रकार की परेशानियों से दो-चार होना पड़ता है। इनके जीवन में पारिवारिक सहयोग का योग नहीं होता। ऐसे जातक सफलता प्राप्ति हेतु अत्यधिक परिश्रम करते हैं, तभी इन्हें परिणाम की प्राप्ति होती है। इन्हें अत्यधिक मेहनत के पश्चात भी देर से ही सफलता प्राप्त होती है। इन जातकों को नीलम का धारण करना चाहिए। आप का स्वामी ग्रह शनि है, अतः पुखराज पहनने से बचें एवं नीलम को विधिवत रूप से धारण कर लगन से मेहनत करते रहे।

कुंभ राशि हेतु रत्न

कुंभ राशि के जातक बुद्धिमान एवं ज्ञानी प्रवृत्ति के होते हैं किंतु इनके अंदर आत्मविश्वास की कमी होती है। साथ ही यह शारीरिक रूप से भी दुबले पतले एवं कमजोर होते हैं। इन जातकों को अपनी शारीरिक एवं आत्मिक दुर्बलता को दूर करने हेतु नीलम रत्न धारण करना चाहिए। आपके लिए भी पुखराज नुकसानदेह है।

मीन राशि हेतु रत्न

मीन राशि के जातकों को आये दिन किसी न किसी प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं से जूझना पड़ता है। हालांकि यह काफी उत्साहित प्रवृत्ति के जोशीले इंसान होते हैं, बावजूद इसके आपकी शारीरिक बनावट के कारण आपको किसी ना किसी प्रकार की परेशानियां उत्पन्न हो जाती है। अतएव आप पुखराज का धारण करें। पुखराज आपके लिए शुभकारी हैं। वही पन्ना आपके जीवन में अशुभ परिणाम परिलक्षित करेगा।



राजीव दीक्षित संस्थान द्वारा आयुर्वेदिक एवं स्वदेशी उत्पाद खरीदें, और संस्था को आगे बढ़ाने में सहयोग करें
अभी आर्डर करें