रविवार के दिन भूलकर भी न करें ये 7 काम

Ravivar Ke Din Naa Kare Ye 7 Kaam

रविवार का दिन भगवान दिन भगवान दिनकर का यानी नवग्रहों के राजा सूर्य का माना जाता है। सूर्य अत्यंत ही तेजस्वी, यशस्वी एवं प्रखर प्रकृति के हैं। जिस भी जातक के ऊपर सूर्य की कृपा होती है, वह व्यक्ति समाज में विशिष्ट पायदान पर रहता है। उनके मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा, धन-संपत्ति आदि में कभी कोई कमी नहीं आती है। अतः इस दिन भगवान सूर्य की पूजा-आराधना एवं उन्हें अर्घ्य प्रदान करना विशेष फलदाई होता है। हालांकि आपको भगवान सूर्य को नियमित अर्घ्य प्रदान करना चाहिए। इससे आपके जीवन में सुख-शांति एवं समृद्धि बनी रहती है। साथ ही सूर्य को अर्घ्य प्रदान करते समय आप निम्न मंत्र का मन ही मन उच्चारण भी करें।

ऊँ ऐही सूर्यदेव सहस्त्रांशो तेजो राशि जगत्पते।
अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणार्ध्य दिवाकर:।।

ऊँ सूर्याय नम:, ऊँ आदित्याय नम:, ऊँ नमो भास्कराय नम:।
अर्घ्य समर्पयामि।।

सूर्य सदैव आपके जीवन पर शुभ एवं सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। यह आपके जीवन को प्रकाश एवं उर्जा से भर देते हैं। अतः इनके कृपा पात्र बनने हेतु आपको इनकी नियमित उपासना करनी चाहिए। ज्योतिषीय दृष्टिकोण के अनुरूप रविवार का दिन भगवान सूर्य का दिन माना गया है। अतः इस दिन शुद्ध मन एवं श्रद्धा भाव से भगवान सूर्य की विशेष पूजा-अर्चना करने से जीवन में चहुँओर प्रकाश ही प्रकाश भर जाता है, साथ ही यह सूर्य ग्रह को शांत करने के उपाय में सबसे बेहतरीन उपाय है। इससे आप जीवन में आ रही सभी चुनौतियों का सामना करते हुए सफलता के शीर्ष पर पहुंचते हैं। इस दिन आपको भगवान सूर्य की आराधना करने के साथ-साथ कुछ खास बातों का विशेष ख्याल रखना चाहिए।

आज के दिन आप इन 7 कामों को बिल्कुल भी ना करें। इससे आपके ऊपर से सूर्य की कृपा दृष्टि घट सकती है। तो आइए जानते हैं क्या है ये सात ध्यान रखने योग्य एहतियात-

ये भी पढ़ें: राशिफल द्वारा जाने आपका आने वाला समय

क्या नहीं करना चाहिए इतवार के दिन?

  1. रविवार के दिन गलती से भी तुलसी के पेड़ में जल से अर्घ्य ना दें। इससे आपके घर में दरिद्रता आती है एवं अनेकानेक प्रकार के संकट आपके परिवार पर मंडराने लगते हैं। शास्त्रों में आज के दिन तुलसी के पौधे के स्पर्श को भी वर्जित माना गया है।
  2. इस दिन तांबे, पीतल, चांदी, सोने जैसी धातुओं से बनी वस्तुओं, बर्तन आदि का लेन-देन ना करें। इससे आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर होगी, साथ ही इससे आपकी कुंडली में मौजूद सूर्य भी कमजोर होता है।
  3. रविवार के दिन सूर्यास्त से पूर्व नमक का सेवन ना करें। इससे आपके जीवन में अनेकानेक प्रकार के शारीरिक व मानसिक कष्ट उत्पन्न होते हैं एवं घर-परिवार में किसी को स्वास्थ्य संबंधी बड़ी समस्या आ सकती हैं।
  4. रविवार के दिन सरसों के तेल से मालिश ना करवाएं। सरसों को सूर्य की प्रकृति का माना जाता है, अतः शारीरिक सुख-विलासिता आदि जैसी क्रियाकलापों में सरसों के तेल के प्रयोग से भगवान सूर्य नाराज हो सकते हैं।
  5. रविवार के दिन मसूर की दाल, लाल साग, अदरक, उड़द की दाल से बनी खिचड़ी या अन्य पदार्थ का सेवन ना करें। इससे आपका सूर्य कमजोर हो सकता है।
  6. रविवार के दिन नीले, काले, गहरे भूरे रंग के वस्त्र ना पहने। आज के दिन चमड़े के जूते का प्रयोग भी ना करें।
  7. रविवार के दिन मांस, मदिरा, मछली आदि का सेवन ना करें और ना ही आज के दिन मद्यपान करें। ऐसा करना आपके लिए घातक सिद्ध हो सकता है। यह तात्कालिक तौर पर आपको तामसिक प्रवृत्ति का तो बनाता ही है, साथ ही आपके ग्रह गोचरों पर भी अपना दीर्घकालिक दुष्परिणाम छोड़ता है।


राजीव दीक्षित संस्थान द्वारा आयुर्वेदिक एवं स्वदेशी उत्पाद खरीदें, और संस्था को आगे बढ़ाने में सहयोग करें
अभी आर्डर करें